बागेश्वर धाम के नियम क्या है ? – Bageshwar Dham

बागेश्वर धाम के नियम क्या है, बागेश्वर धाम का नियम क्या हैं, अर्जी लगाने के बाद बागेश्वर धाम नियम क्या हैं, दोस्तों बागेश्वर धाम के कुछ नियम हैं जिनका पालन करना बहुत जरुरी हैं, आज हम इस पोस्ट मैं बागेश्वर धाम के नियम बताने वाले हैं, आइये जानते हैं बागेश्वर धाम के नियम क्या हैं ?

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
WhatsApp Channel Follow Now

महाराज श्री धीरेन्द्र कृष्ण महाराज अपनी कथाओं मैं बागेश्वर धाम के नियमों के बारे मैं बताते हैं, बागेश्वर धाम महाराज धीरेन्द्र शास्त्री जी अनुसार जिनका पर्चा बन गया हैं, उन्हें लहसुन, प्याज, मांस मदिरा इत्यादि का सेवन नहीं करना हैं, धाम की पेशी करनी हैं मंगलवार और शनिवार के दिन इसके आलावा जिनका पर्चा बना हैं उन्हें जरुरी पेशी करना बहुत जरुरी हैं, और जिनका पर्चा नहीं बना हैं वह एक महीने दो महीने से लेकर 6 महीने बाद के अन्तराल मैं पेशी कर सकते हैं

इसे भी पढ़ेबागेश्वर धाम में घर बैठे अर्जी लगाने का अचूक तरीका 100 % अर्जी स्वीकार होगी

बागेश्वर धाम के नियम क्या हैं ?

दोस्तों बागेश्वर धाम पर अर्जी लगाने या अर्जी लगने के बाद बागेश्वर धाम के कुछ नियम का पालन करना होता हैं, बागेश्वर धाम महाराज नियमों का पालन शक्ती से करने को कहते हैं, बागेश्वर धाम के नियम इस प्रकार हैं, निचे दिए गए सभी नियम महाराज श्री धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री जी के कहे अनुसार है

  • लहसुन और प्याज का सेवन नहीं करना हैं
  • मांस मदिरा का सेवन नहीं करना हैं
  • ॐ बगेश्वराय नमः मंत्र का जाप करना हैं
  • धाम की पेशी करनी हैं
  • जिनका पर्चा बन गया हैं, उन्हें जरुरी मंगलवार या शनिवार की पेशी करनी हैं
  • सन्यासी बाबा का स्मरण करना हैं
  • घर की छत पर झंडा लगाए

यह बागेश्वर धाम के नियम हैं, जिन्हें परम पूज्य बागेश्वर धाम महाराज अपनी कथाओं मैं बताते हैं

इसे भी पढ़ेबागेश्वर धाम का दरबार कहां लगता है? | बागेश्वर धाम दिव्य दरबार 2023

लहसुन और प्याज का सेवन नहीं करना हैं

दोस्तों बागेश्वर धाम का सबसे कठिन नियम लहसुन और प्याज का सेवन नहीं करना हैं, लहसुन और प्याज का उपयोग तो सब जानते हैं, इसका उपयोग सब्जी बनाने और खाने के लिए किया जाता हैं, दोस्तों लहसुन और प्याज मैं गंध होती हैं, जिससे बागेश्वर बालाजी के चरणों मैं अर्जी लगाने के लिए लहसुन और प्याज का खाने से परहेज करना हैं

मांस मदिरा का सेवन नहीं करना हैं

जो व्यक्ति मांस मदिरा का सेवन करेगा ऐसे लोगों के पास और घर मैं बालाजी कभी भी निवास नहीं करते है, इस लिए बागेश्वर धाम मैं अर्जी लगाने के लिए मांस और मदिरा का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना हैं

ॐ बगेश्वराय नमः मंत्र का जाप करना हैं

बागेश्वर धाम मैं अर्जी लगाने या अर्जी लगने के बाद ॐ बगेश्वराय नमः मंत्र का जाप करे और अगर हो सके तो कमल गट्टे की माला के साथ एक माला रोज करे यह भी बागेश्वर धाम का नियम हैं

धाम की पेशी करनी हैं

बागेश्वर धाम महाराज अपने दिव्य दरबार मैं जिनका पर्चा बनता हैं, उन्हें धाम की पेशी करना अनिवार्य बताते हैं, दोस्तों बागेश्वर धाम मैं पर्चा बन्ने के बाद धाम की मंगलवार या शनिवार की पेशी करनी हैं, जिनका पर्चा बना हैं उन्हें पेशी जरुर करनी है, जिनका नहीं बना वह एक महीने से लेकर छः माह के अन्तराल मैं पेशी कर सकते है

इसे भी पढ़े – Chhatarpur se bageshwar dham ki doori/ छतरपुर से बागेश्वर धाम कैसे पहुंचे?

निष्कर्ष – दोस्तों इस पोस्ट को पूरा पड़ने के बाद आपको बागेश्वर धाम सरकार के नियम के बारे मैं पूरी जानकारी मिल गई होगी, अगर जानकारी अच्छी लगी हो तो शेयर करे और कमेंट्स मैं जय बागेश्वर धाम लिखना न भूले

6 thoughts on “बागेश्वर धाम के नियम क्या है ? – Bageshwar Dham”

  1. Shree Bageshwar Dham ki Jai
    Shree Sanyasi gurudev baba ki Jai
    Shree Balaji Sarkar ki Jai
    Shree Salasar Balaji ki Jai
    Gau Mata ki Jai.
    Shree Gurudev Sarkar ki Jai
    Shree Annapurna Mata ki Jai
    Hindu Rastra ki Jai
    Har Har Mahadev
    Jai SiyaRam

    Reply
  2. Shri Bageshwardham ki jai
    Shri Sansyasi GurudevBaba ki Jai
    Shri Balaji sarkar ki jai
    Shri Gurudev maharaj ki jai
    Pujya Gomata ki jai
    Sanatan Dharm ki jai
    Harhar mahadev
    Shri Radhey

    Reply

Leave a Comment

Close Help dada

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});